नामर्दी की होम्योपैथिक दवा - नपुंसकता की 3 सबसे पावरफुल मेडिसिन

नामर्दी की होम्योपैथिक दवा - नपुंसकता, नामर्दी या इरेक्टाइल डिसफंक्शन धीरे धीरे एक बीमारी से महामारी बनते जा रही है जिसका समुचित इलाज बेहद जरुरी है। हेल्थकेयर रेडियस में छपी एक खबर के अनुसार भारत में स्थिति और भी अधिक भयावह है जहाँ प्रत्येक 10 व्यक्ति में से 1 नामर्दी का शिकार है। उससे भी ज्यादा गभीर बात यह है कि नपुंसकता के सबसे अधिक केस युवा वर्ग में देखे जा रहे हैं।


डायबिटीज, हाई स्ट्रेस, लिवर की बीमारियां, गलत खानपान, हस्तमैथुन जैसी गलत आदतें, युवाओं को तेजी से नामर्दी की ओर धकेल रही हैं। आप कुछ आदतों में सुधार कर और यहाँ बताई जा रही नामर्दी की अंग्रेजी दवा (namardi ki angreji dawa) और नामर्दी की होम्योपैथिक दवा के इस्तेमाल से इस बीमारी को जड़ से मिटा सकते हैं।

नामर्दी की होम्योपैथिक दवा

लेकिन ध्यान रखें कि होम्योपैथिक दवाएं खुद भी कभी कभी नुकसानदायक होती हैं इसलिए बिना डॉक्टर की सलाह के मर्दानगी बढ़ाने वाली दवा का सेवन न करें। बता दें कि नामर्दी को इरेक्टाइल डिसफंक्शन भी कहा जाता है इसलिए आप इसे "इरेक्टाइल डिसफंक्शन की होम्योपैथिक दवा" के नाम से भी खरीद सकते हैं। तो चलिए जानते हैं बेस्ट दवाएं जो आपकी नामर्दी को दूर भगाए।

नामर्दी का कारण क्या है ? Causes of erectile dysfunction


नामर्दी या इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ईडी) एक ऐसी स्थिति है जिसमें पुरुष को यौन संबंध बनाने के लिए पर्याप्त लिंग उत्थान प्राप्त करने या उसे बनाए रखने में कठिनाई होती है। यह एक आम समस्या है जो पुरुषों की सभी उम्रों को प्रभावित कर सकती है लेकिन युवाओं में अनियमित खानपान और जीवनशैली की वजह से यह बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है।

पुरुषों में नामर्दी का कोई एक कारण नहीं है लेकिन कुछ ऐसे मुख्य कारण हैं जो सामान्य रूप से इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए जिम्मेदार होते हैं। पहले एक नजर इन कारणों पर डाल लेते हैं उसके बाद नामर्दी की दवाइयों के बारे में विस्तार से जानेंगे।
  • धमनियों का संकुचन पेनिस में रक्त प्रवाह को कम कर सकता है, जिससे इसमें इरेक्शन प्राप्त करना और उस इरेक्शन को बनाए रखना मुश्किल हो जाता है।
  • टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम होना लिग के विकास और कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और इस स्तर में कमी की वजह से नामर्दी बढ़ती है।
  • कुछ दवाएं, जैसे एंटीडिप्रेसेंट, एंटीहाइपरटेंसिव, और प्रोस्टेट कैंसर की दवाएं, नामर्दी का कारण बन सकती हैं।
  • मानसिक तनाव, अवसाद और चिंता विकार नसों को संकुचित कर देती हैं जिससे रक्त प्रवाह अवरुद्ध हो जाता है।
  • अधिक हस्तमैथुन से भी पेनिस की नसें सिकुड़ जाती हैं और पेनिस खड़ा नहीं हो पाता जो इरेक्टाइल डिसफंक्शन का मुख्य कारण बनता है।


नामर्दी की होम्योपैथिक दवा कोनियम 200 | Namardi Ki Homeopathic Dawa

नामर्दी दूर करने के लिए कोनियम 200 एक उपयोगी दवा है जो कोनियम मैकुलेटम से प्राप्त होता है, जिसे आमतौर पर "जहर वीण" कहा जाता है। कोनियम 200 एक शक्तिशाली दवा है जो इरेक्टाइल डिसफंक्शन के अलावा शीघ्रपतन, गाइनेकोमैस्टिया, इरेक्शन बनाए रखने, ढीलापन दूर करने, इत्यादि के लिए प्रयोग किया जा सकता है।

सेवन संबंधी जानकारी के लिए बता दें कि कोनियम 200 आमतौर पर दिन में तीन बार, प्रत्येक खुराक में 5-10 बूंदें ली जाती है। बूंदों को पानी में मिलाकर या सीधे जीभ पर डालकर लिया जा सकता है। यदि आप इस दवा का सेवन करना चाहते हैं तो कृपया सेवन से पहले अपने चिकित्स्क की राय जरूर लें।

यदि आप होमियोपैथी के स्थान पर नामर्दी की पतंजलि दवा का उपयोग करना चाहते हैं तो आप इस आर्टिकल को पढ़ें। यहाँ क्लिक करें, लेकिन आयुर्वेदिक के स्थान पर अंग्रेजी या होमियोपैथी दवाएं तेजी से काम करती हैं।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन की होम्योपैथिक दवा Quora कैलेडियम

होम्योपैथिक दवा कैलेडियम सेजिन्यूनम (Caladium Seguinum) का उपयोग पुरुषों में नपुंसकता (Impotence) के उपचार के लिए किया जाता है। यह एक प्रभावी दवा है जो पुरुषों में नपुंसकता के इलाज के साथ ही यौन इच्छा, इरेक्शन और स्खलन की समस्याओं को ठीक करने में मदद करती है।

कैलेडियम का उपयोग निम्नलिखित स्थितियों में उपयोगी साबित हो सकता है -
  • यौन इच्छा में कमी
  • इरेक्शन में कठिनाई
  • शीघ्रपतन
  • नींद के दौरान वीर्य स्खलन
  • लिंग में दर्द या सुन्नता

यह Namardi Ki Homeopathic Dawa एक ड्राप के रूप में भी आती है जिसकी आपको 10 से 15 बूंदे रोजाना लेनी होती है, अधिक जानकारी के लिए चिकित्सक की राय लें।

नामर्दी की होम्योपैथिक टेबलेट का नाम है लाइकोपोडियम

लाइकोपोडियम नपुंसकता की असरदार अंग्रेजी दवाओं या होम्योपैथी दवाओं में काफी उपयोगी साबित होती है। इस दवा का उपयोग नपुंसकता, शीघ्रपतन, समय से पहले उत्सर्जन, कम कामेच्छा, और प्रोस्टेट के बढ़ने के इलाज के लिए किया जाता है। यह एक प्रकार का क्लबमॉस है, जिसे रेंगने वाले देवदार या जमीन के पाइंस के रूप में भी पहचाना जाता है।

लाइकोपोडियम गोली, टिंचर (ड्राप), और क्रीम के रूप में मार्किट में उपलब्ध है। ड्रॉप और टेबलेट का सेवन आप मुख से कर सकते हैं और सुबह व् शाम डॉक्टर की बताई खुराक लें। जबकि क्रीम का इस्तेमाल आप रोजाना प्राइवेट पार्ट में लगाने के लिए कर सकते हैं लेकिन ध्यान रखें कि क्रीम लगाने के बाद संबंध न बनाएं।

आज आपने क्या सीखा

आज के आर्टिकल में आपने जाना नामर्दी की होम्योपैथिक दवा नाम या इरेक्टाइल डिसफंक्शन की होम्योपैथिक दवा के बारे में जो पुरुषों की गंभीर समस्याओं का निदान करने में सहायक है। हमने 3 बेस्ट दवाओं के बारे में जाना जो नामर्दी के साथ साथ शीघ्रपतन, ढीलापन, कामेच्छा की कमी, इत्यादि के समाधान में भी सक्षम है। उम्मीद है यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी रहेगा, आर्टिकल पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद।

Post a Comment

Post a Comment (0)

Previous Post Next Post